Welcome To Body Xpander

बॉडी एक्सपैंडर एक ट्रेड मार्क, GMP , हलाल और ISO सर्टिफाइड प्रोडक्ट है जो बहुमूल्य और दुर्लभ जड़ी बूटियों से निर्मितकिया गया है; बॉडी एक्सपैंडर कोई साधारण वेट गैनिंग प्रोडक्ट नही है, जो सिर्फ आपके शरीर का वजन बढ़ाने में उपयोगी हो; अपितु ये अपने नाम के अनुसार आपके सम्पूर्ण स्वस्थ में वृद्धि कर आपकी शारीरिक क्षमताओ को अविश्वसनीय रूप से विकसित करता है, जिसके परिणाम स्वरुप बॉडी एक्सपैंडर आपका आंतरिक बल (Stamina), ऊर्जा स्तर (Energy Level), प्रतिरक्षा तंत्र (IMMUNE SYSTEM), और रोग प्रतिरोधक शक्ति (RESISTANCE POWER) को स्ट्रांग करता है साथ ही यह आपकी आहार ग्रहण क्षमता (Diet) को भी बढ़ाता है जिससे आपका विशुद्ध शारीरिक भार अर्थात आपका वजन भी बढ़ता है, जो पूर्णतः सुरक्षित तरीके से आपके दैनिक नियमित आहार से मिलने वाले पोषण से बड़ा हुआ होता है।

सेवन विधि:- बॉडी एक्सपैंडर की लगभग २ से ३ ग्राम मात्रा दिन में २ बार(सुबह-श्याम) खाना-खाने के लगभग १ घंटे बाद पानी के साथ लेना है| १४ वर्ष की आयु से कम आयु वर्ग के लिए बॉडी एक्सपैंडर का सेवन वर्जित है एवं १४ से १८ वर्ष तक की आयु वर्ग के लिए १ से २ ग्राम तक मात्रा पर्याप्त होती हैI

लाभ:- बॉडी एक्सपैंडर में मौजूद दुर्लभ जड़ीबूटियो द्वारा शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र (IMMUNE SYSTEM) और रोग प्रतिरोधक शक्ति (RESISTANCE POWER) के बड़ जाने की वजह से साधारण मौसमी बीमारियों से भी सुरक्षा मिलती है, इन परिवर्तनों को कुछ ही दिनों के बाद उपभोक्ता द्वारा आसानी से महसूस किया जा सकता है। इस औषिधि के माध्यम से एक महीने में 5 Kg तक वजन आसानी से बढ़ाया जा सकता, कुछ लोगो में आहार ग्रहण क्षमता के प्रबल होने पर एक माह में ५ किलो से ज्यादा वजन भी बड़ता है|

निषेध:- बॉडी एक्सपैंडर के सेवन के दौरान किसी भी प्रकार की मादक वस्तुओ का सेवन न करे; यकृत सम्बन्धी कोई भी विकार जैसे पीलिया, अल्सर, लिवर सोरायसिस आदि होने पर बॉडी एक्सपैंडर का सेवन न करे साथ ही शुगर व सिकिल सेल एनीमिया जैसे रोगो से ग्रसित व्यक्ति भी इसका सेवन न करे|

नोट:- सामान्यतः बॉडी एक्सपैंडर के सेवन से किसी भी प्रकार के प्रतिकूल प्रभाव उजागर नहीं होते है परंतु बॉडी एक्सपैंडर के प्रयोग से जठर अग्नि त्रीव हो जाने से कुछ व्यक्तियों में शरीर पर लाल दाने निकाल आते है ऐसी स्थिति में इसका सेवन कुछ दिनों के लिए रोक दे; लगभग १ से २ हफ्तों में यह लाल दाने स्वतः ही ठीक हो जाते हैI